देश रक्षा सहित अन्य क्षेत्रों में आत्मनिर्भर बन रहाः रक्षा मंत्री

 

देश रक्षा सहित अन्य क्षेत्रों में आत्मनिर्भर बन रहाः रक्षा मंत्री

देहरादून,पहाड़वासी। केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आज देश रक्षा सहित अन्य क्षेत्रों में आत्मनिर्भर बन रहा है। टैंक, तोप, गोला, बारूद जैसे महत्वपूर्ण रक्षा उपकरण 25 देशों को निर्यात किये जा रहे हैं। 16 हजार करोड़ का निर्यात इस क्षेत्र में किया जा चुका है। वह दिन दूर नही जब हम रक्षा से सम्बन्धित सामग्री भारत में ही बनाकर दुनिया को इसका निर्यात करेंगे। निजी क्षेत्र के उद्यमियों को प्रोत्साहित कर उनसे भी सामग्री क्रय की जा रही है। सोमवार को सर्वे ऑफ इंडिया ऑडिटोरियम में आयोजित प्रबुद्धजन सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि उत्तराखण्ड से उनका गहरा लगाव रहा है। उत्तराखण्ड को देवभूमि वीरभूमि शौर्य व सैन्य भूमि की संज्ञा देते हुए उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड छोटा राज्य होने के बावजूद यहा के समग्र विकास के प्रति केन्द्र सरकार का दृष्टिकोण स्पष्ट है।

उन्होंने कहा कि राज्य के समग्र विकास की महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में केदारनाथ-बद्रीनाथ धाम में 1300 करोड़ के पुनर्निर्माण कार्य, ढाई हजार करोड़ रुपए की लागत से गौरीकुण्ड-केदारनाथ और गोविंदघाट-हेमकुण्ट साहिब रोपवे का कार्य, कुमायूं के पौराणिक मंदिरों को भव्य बनाने के लिये मानसखण्ड मंदिर माला मिशन का कार्य, पूरे राज्य में होम स्टे को बढ़ावा देने, 16 ईको टूरिज्म डेस्टिनेशन का विकास, उत्तराखंड में स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार। उधमसिंह नगर में एम्स का सेटलाइट सेंटर बनाने, करीब 2 हजार करोड़ रुपए की लागत वाली टिहरी लेक डेवलपमेंट परियोजना, ऋषिकेश-हरिद्वार का एडवेंचर टूरिज्म और योग की राजधानी के रूप में विकास, टनकपुर-बागेश्वर रेल लाइन की परियोजना के साथ ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन पहाड़ में रेल के सपने की परिकल्पना को पूर्ण करने जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के गतिशील नेतृत्व में विश्व में भारत का मान सम्मान बढ़ा हैं। अन्तर्राष्ट्रीय मंचो पर भारत की बात को गंभीरता से सुना जा रहा है।  विश्व के देशों में प्रधानमंत्री को मिलने वाला सम्मान सभी देशवासियों का सम्मान है।  विदेशी विशेषज्ञ प्रधानमंत्री श्री मोदी को अद्भूत कार्य क्षमता शक्तिवाला व्यक्तित्व मान रहे है। विज्ञान एवं तकनीकी के क्षेत्र में भी देश का सम्मान बढ़ा है। हमारा जवान देश की सीमा पर राष्ट्रीय स्वाभिमान की भावना के साथ निडरता से खड़ा रहता है। उन्होंने कहा कि भारत 2027 तक विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगी। इसका भी आकलन कई विदेशी अर्थशास्त्रियों द्वारा किया गया है। आज देश में बड़ी-बड़ी विदेशी कम्पनियां निवेश के लिये आ रही है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि देश में जन धन खाता खोलने की प्रधानमंत्री मोदी के विजन का ही प्रतिफल है कि आज डिजिटल ट्रांजेक्शन के माध्यम से लाभार्थियों को उन्हें दी जाने वाली आर्थिक मदद शत प्रतिशत उनके खाते में जमा हो रही है जबकि पहले पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी ने ही चिंता व्यक्त करते हुए कहा था कि दिल्ली से यदि 100 रुपये भेजे जाते है तो लाभार्थी तक 15 रुपये ही पहुंच पाते है। जनधन खाता से इस व्यवस्था में बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार भाषण से नहीं, व्यवस्था में बदलाव से ही समाप्त किया जा सकता है। आज भारत में 77 करोड़ डिजिटल ट्रांजेक्शन हो रहे है। रक्षा मंत्री ने कहा कि आज जहां विश्व के बड़े देशों की अर्थव्यवस्था लड़खड़ा रही है उनके बैंको की साख पर सवाल उठ रहे है, भारत ने इस चुनौती को स्वीकार कर मंहगाई को कण्ट्रोल करने का कार्य किया है। कोरोना काल में दो-दो वैक्सीन बनाकर देश के नागरिकों को उपलब्ध कराने के साथ ही 100 देशों को भी इसकी आपूर्ति की। रूस-युक्रेन युद्ध में प्रधानमंत्री श्री मोदी ने इन देशों के प्रमुखों के साथ अमेरिका के राष्ट्रपति से वार्ता कर वहा पढ़ रहे लगभग 26 हजार छात्रों को युद्ध क्षेत्रों में सुरक्षित अपने देश वापस लाने के लिए सीमित समय के लिए युद्ध विराम कराया जो कार्य दुनिया के देश नही कर पाए, वह प्रधानमंत्री श्री मोदी ने किया है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि हमारे लिए राजनीति सरकार बनाने के लिये नहीं बल्कि समाज व देश बनाने का विषय है। सर्वधर्म- सद्भाव की भावना पर हम विश्वास करते है। देश में समरसता व सामाजिक सौहार्द बना रहे इसके लिए प्रयास हो रहे है। कुछ लोग समाज में अशांति फैलाकर जनता को गुमराह करने का कार्य कर रहे है। इससे बचने की भी उन्होंने जरूरत बतायी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रबुद्धजनों के सम्मेलन का मूल उद्देश्य है कि प्रबुद्धजनों के जरिये जनता तक सरकार और संगठन की बात को पहुंचाया जाए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी व रक्षामंत्री श्री राजनाथ सिंह के कुशल नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में आज भारत एक शक्तिशाली और सुरक्षित राष्ट्र बन चुका है। सेना का मनोबल बढ़ाने और सेना को आधुनिक बनाने के साथ ही आत्मनिर्भर बनाने के लिए अभूतपूर्व कार्य किए जा रहे हैं। सेना को मजबूत बनाना आज के समय की मांग है जिसके लिए रक्षा मंत्री सेना में हर स्तर पर क्रांतिकारी बदलाव लाने का प्रयास कर रहे है।

उन्होंने कहा कि आज सम्पूर्ण विश्व भारत की शक्ति एवं सामर्थ्य से परिचित हुआ है, जिसका परिणाम है कि आज कोई भी दुश्मन हमें आंख दिखाने की हिम्मत नहीं कर सकता। आज देश की सुरक्षा में लगे सैनिकों को दुश्मन की गोली का जवाब देने के लिए सरकार से अनुमति लेने की जरूरत नहीं पड़ती। आज हमारी सेना गोली का जवाब गोलों से देने का कार्य करती है। हमारे सैनिकों को किसी भी प्रकार के सैन्य साजो समान की कमी का सामना नहीं करना पड़ता है।  उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के कुशल नेतृत्व का ही प्रतिफल है कि पिछले नौ सालों में देश के हर वर्ग का कल्याण हुआ है और भारत का मान देश के साथ ही विदेशों में भी बढ़ा है। आजादी के बाद के वर्षों की तुलना में पिछले नौ वर्षों के दौरान विकास के सभी मापदंडों के आधार पर हम कह सकते हैं, हमारे देश ने हर क्षेत्र में जबरदस्त प्रगति की है, जिसका लोहा आज संपूर्ण विश्व मान रहा है। इस अवसर पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र भट्ट, सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह, नरेश बंसल, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत आदि उपस्थित थे।

39 thoughts on “देश रक्षा सहित अन्य क्षेत्रों में आत्मनिर्भर बन रहाः रक्षा मंत्री

  1. I as well as my friends were found to be checking out the great items from your website and so all of the sudden I had a horrible suspicion I never expressed respect to the website owner for those tips. The guys were definitely for that reason passionate to learn all of them and have in effect sincerely been taking advantage of these things. We appreciate you genuinely considerably thoughtful and for pick out certain brilliant topics millions of individuals are really wanting to learn about. Our own sincere regret for not expressing gratitude to you earlier.

  2. Thank you a lot for giving everyone such a breathtaking possiblity to discover important secrets from here. It’s usually very beneficial and packed with a great time for me personally and my office acquaintances to search your blog no less than three times in a week to read the latest secrets you have. Of course, I’m also actually contented considering the remarkable creative concepts you serve. Some 4 facts in this article are definitely the best we have ever had.

  3. I definitely wanted to write down a comment to be able to appreciate you for these stunning ways you are placing on this website. My time intensive internet investigation has at the end of the day been recognized with high-quality strategies to write about with my family. I would suppose that we website visitors are undeniably endowed to exist in a magnificent site with so many special people with great opinions. I feel rather fortunate to have used your web pages and look forward to many more amazing moments reading here. Thank you again for everything.

  4. Thank you for all of the effort on this blog. My aunt really likes doing internet research and it is simple to grasp why. A lot of people learn all relating to the powerful ways you render functional strategies via your website and even welcome contribution from people on that subject while our own simple princess has been becoming educated a whole lot. Have fun with the rest of the year. Your performing a powerful job.

  5. I intended to draft you one bit of remark just to give many thanks as before over the pretty tips you’ve contributed in this article. It is really remarkably generous of you to offer freely just what a few individuals would have advertised for an ebook in order to make some cash for themselves, and in particular seeing that you could possibly have done it in the event you desired. The strategies as well worked as a fantastic way to know that someone else have the same fervor like my personal own to realize way more in regard to this issue. I know there are many more enjoyable sessions in the future for individuals who looked over your website.

  6. Thanks a lot for providing individuals with an extremely special possiblity to read articles and blog posts from this website. It’s usually very kind and also jam-packed with amusement for me personally and my office colleagues to visit your blog no less than thrice every week to learn the newest stuff you have got. And of course, I’m at all times astounded concerning the very good information served by you. Certain 1 tips in this post are indeed the best I’ve had.

  7. I needed to write you the little word to help thank you so much once again for all the wonderful secrets you have shown on this website. This is quite incredibly open-handed of people like you to supply unhampered all a number of people could possibly have advertised for an ebook in order to make some dough for themselves, even more so since you might well have tried it if you ever decided. These techniques likewise acted to provide a great way to be sure that someone else have similar eagerness just as mine to figure out very much more with respect to this matter. I am certain there are numerous more enjoyable moments up front for those who discover your blog.

  8. I discovered your weblog site on google and examine a few of your early posts. Proceed to maintain up the very good operate. I simply additional up your RSS feed to my MSN Information Reader. In search of ahead to reading more from you in a while!?

  9. Youre so cool! I dont suppose Ive read anything like this before. So nice to find any person with some unique thoughts on this subject. realy thank you for beginning this up. this web site is something that’s wanted on the net, someone with a little bit originality. useful job for bringing something new to the web!

  10. You made some decent points there. I seemed on the internet for the problem and found most people will associate with along with your website.

  11. Oh my goodness! a tremendous article dude. Thanks Nonetheless I’m experiencing difficulty with ur rss . Don抰 know why Unable to subscribe to it. Is there anyone getting an identical rss downside? Anyone who knows kindly respond. Thnkx

  12. I simply wanted to compose a simple comment to be able to appreciate you for the stunning facts you are showing at this website. My particularly long internet investigation has now been paid with good quality facts and strategies to talk about with my neighbours. I ‘d claim that most of us visitors are very lucky to be in a good site with many special people with good tips. I feel rather lucky to have encountered the website page and look forward to really more fabulous moments reading here. Thank you again for everything.

  13. You made some first rate points there. I seemed on the web for the difficulty and found most people will go together with along with your website.

  14. I抦 impressed, I have to say. Actually not often do I encounter a blog that抯 both educative and entertaining, and let me let you know, you’ve gotten hit the nail on the head. Your thought is excellent; the issue is something that not sufficient individuals are talking intelligently about. I am very glad that I stumbled throughout this in my seek for one thing referring to this.

  15. After research a few of the blog posts in your website now, and I actually like your approach of blogging. I bookmarked it to my bookmark website list and can be checking back soon. Pls check out my web site as well and let me know what you think.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *