मौसेरा भाई निकाला अमित का हत्यारा

 

मौसेरा भाई निकाला अमित का हत्यारा

हल्द्वानी/देहरादून,पहाड़वासी। टीपी नगर क्षेत्र में कत्था फैक्ट्री के सामने युवक की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। हत्यारा मौसेरा भाई ही निकला। उसका मौसेरा भाई मृतक के परिवार को अपने पिता और भाई की मौत के लिए जिम्मेदार मानता था। इतना ही नहीं उसे अपनी भी हत्या का डर सता रहा था। एसएसपी ने खुलासा करने पर पुलिस टीम को ढाई हजार रूपए ईनाम देने की घोषणा की है। बता दें कि टीपी नगर क्षेत्र में कत्था फैक्ट्री के बाहर सुमेर कश्यप खाने का ठेला लगाते हैं। बीती 26 नवंबर को सुमेर कश्यप शाम को किसी काम से बाजार गए हुए थे। इस दौरान उन्होंने पुत्र अमित कश्यप को ठेली पर बिठा दिया।

जब वह वापस लौटे तो उनका पुत्र लहूलुहान हालत में पड़ा था। जिसके बाद उसे एसटीएच ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई। इधर पुत्र की मौत के बाद पिता की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। वहीं पुलिस हत्यारे की तलाश में जुट गई। पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगालने के साथ ही मृतक के परिवार की कुंडली भी खंगालनी श्ुारू कर दी। जांच में पुलिस को अहम सुराग मिल गया। जिसके बाद पुलिस ने हत्यारोपी को डी क्लास तल्ली हल्द्वानी स्थित हनुमान मंदिर के पास से गिरफ्तार कर लिया। हत्यारोपी मृतक का मौसेरा भाई निकला। मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी ने बताया कि आरोपी अरूण कश्यप मृतक अमित कश्यप का मौसेरा भाई है। अरूण कश्यप अपने पिता के लापता होने व भाई की मौत के लिए अमित के परिवार को जिम्मेदार मानता था। जिस कारण से वह अमित के परिवार से रंजिश रखने लगा। इतना ही नहीं उसे अपनी पत्नी का उसके घर जाना भी अच्छा नहीं लगता था। इतना ही नहीं उसे खुद अपनी हत्या का भी डर सताने लगा था। इसी डर को दूर करने के लिए उसने अमित की हत्या करने का प्लान बना दिया। घटना के दिन उसने मंगलपड़ाव से पाटल खरीदा और अंधेरे का फायदा उठाकर अमित पर कई वार दिए और वहां से फरार हो गया। हत्याकांड का खुलासा करने पर एसएसपी ने पुलिस टीम को ढाई हजार रूपए का ईनाम देने की घोषणा की है।